Monday, November 5, 2012

...वरना मैं चुप हो जाऊंगा

"हर कविता मेरा आंसू है,-क्या तुम पर उसका साँचा है?
यह बात बताना तुम मुझको वरना मैं चुप हो जाऊंगा."
---- राजीव चतुर्वेदी

1 comment:

Roopesh Pathak said...

gorgeous creation..:-)